भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Urdu-Hindi Shabdkosh (UP Hindi Sansthan)

U P Hindi Sansthan

برائے مہربانی ڈکشنری کا تعارفی صفحہ دیکھنے کے لے یہاں کلک کریں
शब्दकोश के परिचयात्मक पृष्ठों को देखने के लिए कृपया यहाँ क्लिक करें
Please click here to view the introductory pages of the dictionary

तक़्क़ार (تقار)

अ. पुं.- बहुत बोलनेवाला, बहुभाषी; बहुत अच्छा भाषण देनेवाला, भाषण-पटु।

तक्ज़ीब (تکذیب)

अ. स्त्री.- किसी की बात का खंडन करना; किसी की बात को झुठलाना।

तक़्तीअ (تقطیع)

अ. स्त्री.- टुकड़े-टुकड़े करना; पुस्तक की लम्बाई-चौड़ाई; पद्य के किसी चरण के अक्षरों को गणों की मात्राओं के मुक़ाबले में रखकर यह देखना कि अमुक पद शुद्ध है या नहीं; किसी वस्तु को टुकड़ों में बाँटना।

तक़्तीर (تقطیر)

अ. पुं.- बूँद-बूँद करके टपकाना, अरक़ खींचना।

तक़्दिमः (تقدمہ)

अ. पुं.- सामने करना; सामने होना; स्वागत; नेता; साई, पेशगी रक़म।

तक़्दीम (تقدیم)

अ. स्त्री.- आगे करना, तर्जीह देना; प्रधानता, तर्जीह।

तक़्दीर (تقدیر)

अ. स्त्री.- भाग्य, प्रारब्ध, अदृश्य, अदृष्ट, दैव, क़िस्मत।

तक़्दीर आज़्माई (تقدیر آزمائی)

अ. फा. स्त्री.- भाग्य परीक्षा, क़िस्मत का इम्तिहान।

तक़्दीस (تقدیس)

अ. स्त्री.- पुनीतता, पवित्रता, श्रेषठता, बुज़ुर्गी।

तक्फ़ीन (تکفین)

अ. स्त्री.- मुर्दे को कफ़न पहनाना, यह शब्द अकेला नहीं बोला जाता ‘तज्हीज़’ के साथ बोलते हैं।

तक्फ़ीर (تکفیر)

अ. स्त्री.- मुसलमान पर कुफ़्र का फ़त्वा लगाना; प्रायश्चित्त देना, कफ़्फ़ारा देना।

तक़्फ़ील (تقفیل)

अ. स्त्री.- ताला लगाना, ताले में बंद करना, क़ुफ़ुल देना।

तक्बीर (تکبیر)

अ. स्त्री.- अल्लाहो अक्बर’ (ईश्वर सबसे बड़ा है। कहना; नमाज़ में झुकने, खड़े होने अतवा बैठने के लिए ‘अल्लाहो अक्बर’ कहना।

तक़्बील (تقبیل)

अ. स्त्री.- चुम्बन, चूमना, (किसी पदार्थ को चूमना, मनुष्य को नहीं।

तक़्बीह (تقبیح)

अ. स्त्री.- बुराई करना, बुरा काम करना।

तक्मिलः (تکملہ)

अ. पुं.- पूर्ति, समाप्ति; किसी काम की पूर्ति में कोई कसर न रहना; परिश्ष्ट, ज़मीमा।

तक्मीद (تکمید)

अ. स्त्री.- पोटली में दवा भरकर उससे अंग विशेष को सेंकना।

तक्मील (تکمیل)

अ. स्त्री.- पूर्ति, समाप्ति; किसी काम की पूर्ति में कोई कसर न रहना।

तक्यः (تکیہ)

अ. पुं.- सिर के नीचे रखने का नर्म और गुदगदा वस्त्र, उपधान; पीठ से लगाने का बड़ा वस्त्र, मस्नद; मुसलमानों के मुर्दे दफ़्न होने का स्थान, क़ब्रिस्तान।

तक्यः कलाम (تکیہ کلام)

अ. पुं.- वह बात जो कोई व्यक्ति बातों के बीच में बेज़रूरत बार-बार बोलता है।

Search Dictionaries

Loading Results

Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App